जब मिले अभिवादन करें

हिंदी पुस्तकों का अपना महत्त्व है । आजकल बच्चे केवल अंग्रेज़ी किताबें पढ़ते हैं। हमें उन्हें हिंदी कहानियाँ पढ़ने के लिए भी प्रोत्साहित करना चाहिए ।

किताब का नाम : जब मिलें अभिवादन करें

अनुवाद : पंकज चतुर्वेदी

चित्र : अतनू रॉय

प्रकाशक : राष्ट्रीय पुस्तक न्यास

आयु वर्ग : ५ से ७ ( 5 to 7 )

बचपन से ही हम बच्चों को अच्छी आदतें सिखाने का प्रयास करते हैं । अभिवादन करना सबसे पहली सीख होती है । यह किताब हर प्राणी के अभिवादन के तरीक़ों का वर्णन करती है । जानवर व इंसान किस प्रकार एक दूसरे का अभिवादन करते हैं यह इस किताब में बख़ूबी दर्शाया गया है। बच्चे इसे पढ़कर ज़रूर आनंदित होंगे और उन्हें कुछ नया सीखने को मिलेगा ।

भाषा सरल व चित्र मज़ेदार हैं ।

सभी बच्चों को यह पुस्तक दोस्तों के साथ मिल कर पढ़नी चाहिए ।

⭐️⭐️⭐️⭐️

धन्यवाद ।

1 thought on “जब मिले अभिवादन करें”

  1. आप ने जो इस पुस्तक की खूबी बताई और सबसे अच्छी लगी वह है । मनुष्य ही नहीं अन्य प्राणियों के अभिवादन।।यकिनन पढने योग्य।

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s